-->

Facebook

Most important general science question answer in Hindi

Most important general science question answer in Hindi




1. गर्मी में हल्के रंग के कपडे पहनना क्यों पसंद किया जाता है?

Most important general science question answer in Hindi
Most important general science question answer in Hindi

Ans: हल्के रंग के कपड़ों पर पड़ने वाले सूर्य के प्रकाश का अधिकतर भाग परावर्तित हो जाता है जबकि गहरे रंग के कपड़े सूर्य के प्रकाश के अधिकतर भाग को अपने सोंख लेते है जिससे अधिक गर्मी का अनुभव होता है और गर्मी के दिनों में परेशानी होती है। जबकि हल्के रंग वाले कपड़े प्रकाश को परावर्तित  कर शरीर को शीतलता का अनुभव करते हैं।


2. बरसात के दिनों में आकाश में इंद्र धनुष का निर्माण कैसे होता है?

Ans: प्रकाश जब एक माध्यम से दूसरे माध्यम में प्रवेश करता है तो यह अपने निश्चित पथ से थोड़ा मुड़ जाता है| प्रकाश का यह गुण अपवर्तन कहलाता है। अपवर्तन के समय प्रकाश में उपस्थित अलग-अलग रंग अपनी-अपनी प्रवृति के हिसाब से कम ज्यादा मुड़ते है| अतः प्रकाश अपने सात रंगों में विभाजित हो जाता है। हवा, पानी, काँच आदि अलग-अलग माध्यम है , इस कारण प्रकाश के एक माध्यम से दूसरे माध्यम में प्रवेश करते समय अपवर्तन की क्रिया होती है। बरसात के दिनों में बादलों से टपकती बूंदों से सूर्य का प्रकाश टकरा कर आकाश में भी ठीक इसी तरह इन्द्रधनुष का निर्माण कर देता है।

 

3. हवाई जहाज हवा में कैसे उड़ता है?

Ans: हवाई जहाज का इंजन की वजह से नहीं बल्कि अपने पंख के आकर की वजह से उड़ पाना सम्भव हो पाता है। पंख की इस विशेष बनावट को एरोफाइल कहते हैं। इस एरोफाइल की विशेषता यह है कि पंख के ऊपर और नीचे से गुजरने वाली हवा को पीछे जाकर एक ही समय पर मिलने के लिये ऊपर से होकर जाने वाला हवा को नीचे से होकर जाने वाली हवा से तेज़ चलना पड़ता है। वायु की गति जितनी तेज़ होती है उसका दबाव उतना ही कम होता है। पंख  के ऊपर वाले भाग में वायु का दाब , नीचे वाले भाग की तुलना में कम होगा, जिससे पंख ऊपर उठने को बाध्य होंगे वायुदाब के अंतर द्वारा उत्पन्न वह बल जिस के कारण वायुयान ऊपर उठने को मजबूर हो जाता है, उत्थापक बल कहलाता है। इंजन का काम तो होता है वायुयान को तेजी के साथ वायु के बीच से गुजारना ताकि उत्थापक बल द्वारा यह ऊपर उठाया जा सके।

 

4. प्रेशर कुकर में खाना जल्दी क्यों पकता है?

Ans: खुले बर्तन में खाना बनाने की अपेक्षा ढके बर्तन में खाना जल्दी पकता है क्योंकि पानी से बनने वाली भाप उसमें बेकार नहीं जाती है। ढके बर्तन में दाब भी अधिक होता है नियमानुसार जैसे-जैसे दाब बढ़ता है पानी का क्वथनांक कम होता जाता है। प्रेशर कुकर में दाब अधिक हो जाने के कारण पानी या उसमें पकाये जाने वाले पदार्थो का क्वथनांक घट जाता है जिससे वे जल्दी पक जाते हैं।

 

5. जादू का खेल दिखाने वाले नींबू से खून टपकाता हुआ दिखाते हैं। यह कैसे संभव है?

Ans: नींबू में सीरींज द्वारा मेथील  ऑरेंज प्रवेश कराते है जो नींबू में उपस्थित सिट्रिक अम्ल से क्रिया करके लाल बिबनेनाइड रूप में परिवर्तित हो जाता है जिससे नींबू का रस लाल हो जाता है। और काटने पर लाल रंग का रस प्राप्त होता है।


6. नमक में आयोडीन की पहचान कैसे की जाती है?


Ans: डॉक्टर हमें आयोडीन युक्त नमक खाने की सलाह देते हैं|  नमक में आयोडीन है या नहीं? इसकी उपस्थिति का पता लगाने के लिये नमक के घोल में स्टार्च डालते हैं| यदि स्टार्च डालने पर घोल का रंग गाढ़ा नीला हो जाता है तो यह  आयोडीन की उपस्थिति को दर्शाता है।


7. तूफान एवं चक्रवात क्यों आते हैं?


Ans: किसी स्थान पर वायु दाब के अचानक कम हो जाने से वहाँ पर अधिक वायुदाब वाले स्थान से वायु आने की संभावना हो जाती है। आने वाली वायु की गति अधिक होने पर आँधी, तूफ़ान, चक्रवात आते हैं।


8. जलती हुई लौ के ऊपर से देखने पर दूसरी ओर की वस्तुएँ हिलती हुई क्यों दिखाई देती है?


Ans: अपवर्तन के कारण जलती हुई लौ के ऊपर से देखने पर दूसरी ओर की वस्तुएँ हिलती हुई दिखाई देती है। जलती हुई लौ के उपर की वायु गर्म होने के कारण हल्की हो जाती है| जिसके कारण प्रकाश की किरण सघन व अपेक्षाकृत वायरल माध्यम में से गुजरती है और अपवर्तित हो जाती है| इस कारण  जलती हुई लौ के ऊपर से देखने पर दूसरी ओर की वस्तुएँ हिलती हुई दिखाई देती है।

 

9. एक जगह खड़े होकर पतंग को एक मामूली से धागे के सहारे इतनी ऊँचाई तक कैसे उड़ा सकते हैं?


Ans: जब पतंग उड़ती है तो हवा की शक्ति पतंग के सामने की ओर पहुँचती है तो इससे उच्च वायुदाब बनता है ।पतंग के दूसरी ओर यह दाब कम होता है जिससे पतंग ऊपर उठती है। जब पतंग ऊपर उठती है तो दूसरी ओर पृथ्वी की गुरुत्वाकर्षण शक्ति इसे नीचे की ओर भी खींचने का प्रयास करती है, परन्तु पतंग में डोर इस तरह बांधी जाती है कि वह संतुलन बनाकर हवा में उड़ती रहती है।

 

10. बोतल के मुँह पर कीप रखकर भरते समय पानी बहुत धीमी गति से इसके अन्दर जाता है परन्तु कीप को थोड़ा ऊँचा उठा लेने पर यह गति एकाएक तेज़ क्यों हो जाता है?


Ans: जब कीप से पानी डाला जाता है तो पानी बोतल के अन्दर प्रवेश करके इसे भरना शुरू कर देता है, जिससे बोतल  में मौजूद हवा पर दबाव पड़ता है क्योंकि इस हवा को आसानी से बाहर निकलने के लिये कोई खुला रास्ता नहीं मिलता है। बोतल के मुँह पर कीप इस तरह रखी होती है कि उसका मुँह लगभग पूरी तरह ढक जाता है। फिर भी यह जोड़ वायुरुद्ध तो है नहीं अतः हवा को बाहर निकलने के लिये कुछ न कुछ जगह मिल ही जाती है और जिस गति से यह बाहर निकलती है बोतल में पानी भरने की गति भी वही होती है। इसलिए जब कीप को थोड़ा ऊँचा  किया जाता है तो अन्दर की हवा का बाहर निकलने का रास्ता पूरी तरह खुल जाता है और तब पानी हवा को बिना रुकावट तेजी से  बाहर ढ़केल कर  बोतल में अपने लिये जगह बनाता जाता  है।

 

11. रेत पर चलने में व्यक्ति को कठिनाई होती है पर ऊँट आसानी से क्यों चल पाता है?


Ans: व्यक्ति के पैरों का क्षेत्रफल ऊँट से कम होता है अतः क्षेत्रफल कम होने से दाब अधिक लगता है तथा पैर रेत में धंस जाते हैं जब कि ऊँट के पैरों का क्षेत्रफल अधिक होने से दाब कम लगता है तथा ऊँट के पैर रेत में नहीं धंसते हैं और ऊँट रेत में आसानी से चल पाता है। यह उसी प्रकार है जैसे एक कील नुकीली तरफ से आसानी से लकड़ी में घुस जाती है, जबकि उल्टी ठोकने पर नहीं घुसती|


12. उबलते हुये पानी की अपेक्षा भाप अधिक जलन पैदा क्यों करती है?


Ans: उबलते हुये पानी का तापमान 100°C होता है। जबकि भाप में कुछ अधिक अतिरिक्त गुप्त उष्मा होती है जिसके कारण भाप अधिक जलन पैदा करती है। भाप में अतिरिक्त गुप्त उष्मा का मान 536 किलो कैलोरी होता है।


13. 0°C  सेंटीग्रेड वाली बर्फ 0°C वाले पानी की तुलना में अधिक ठण्डी क्यों होती है?


Ans: बर्फ की गुप्त उष्मा 80 किलो कैलोरी होती है अतः बर्फ में 80 किलो कैलोरी उष्मा कम होने के कारण 0°C ताप वाली बर्फ 0°C वाले जल की अपेक्षा अधिक ठण्डी लगती है।


14. रॉकेट का ऊपरी भाग शंकुनुमा क्यों बनाया जाता है?


Ans: राकेट का वेग बहुत अधिक होता है जिसके कारण राकेट का वायु से घर्षण भी अधिक होता है|वायुमंडल के प्रतिरोध को कम करने एवं वायुमंडल के घर्षण से जलकर नष्ट होने से बचाने के लिये रॉकेट का ऊपरी भाग शंकुनुमा बनाया जाता है।


15. चमगादड़ रात्रि के अँधेरे में भी कैसे उड़ सकते हैं?


Ans: चमगादड़ रात्रि में पराश्रव्य ध्वनि उत्पन्न करके एक निश्चित दिशा में उड़ते है यदि उनके उड़ने की दिशा में अवरोध है तो उस अवरोध से यह पराश्रव्य ध्वनि टकराकर लोटेंगी। टकराकर लौटने वाली इस पराश्रव्य ध्वनि को चमगादड़ सुनते है। जिससे उन्हें पता चल जाता है कि आगे अवरोध है इस प्रकार अवरोध का पता चलने पर वे अपनी गति की दिशा बदल लेते है। इस प्रकार चमगादड़ रात्रि के अँधेरे में भी उड़ सकते है।


16. क्या कारण है कि शीशे में हम अपने को तो तब ही देख पाते हैं जब इसके ठीक सामने होते हो पर ऐसी और बहुत -सी चीजें जरुर दिख जाती है, जो शीशे के सामने नहीं होती?


Ans: कोई भी वस्तु तब दिखाई देती है जब प्रकाश स्रोत से चली प्रकाश की किरणें वस्तु से टकरा कर हमारी आँखों तक पहुँचती है। इसे प्रकाश का परावर्तन कहते है। शीशे में हम अपने आपको तभी देख सकते है जब हमसे चली प्रकाश की किरण शीशे पर लम्बवत कराये।ऐसा तब ही हो सकता है जब हम शीशे के ठीक सामने खड़े हो। परन्तु शीशे के सामने न होने पर भी काफी और सारी वे वस्तुएँ भी दिखाई देती है जिनसे चला हुआ प्रकाश शीशे से टकराने के बाद हमारी आँखों तक पहुँच जाता है।


17. पदार्थ रंग-बिरंगे क्यों दिखाई देते हैं?


Ans: जब प्रकाश की किरणें किसी रंगीन वस्तु पर गिरती है तो रंगीन वस्तु उस रंग के प्रकाश को (जिस रंग की वह वस्तु है) छोड़कर सारे रंग का अवशोषण कर लेती है बाकी प्रकाश को परावर्तित कर देती है। जैसे घास का हरा दिखाई देना। घास हरे रंग के प्रकाश को परावर्तित कर देती है बाकी प्रकाश को अवशोषित कर देती है। यही कारण है कि वस्तु जिस रंग के प्रकाश को परावर्तित करती है वही रंग हमें वस्तु का दिखाई देता है।

जो वस्तुएं सभी रंगों को अवशोषित करती हैं वे काली दिखाई देती हैं तथा जो वस्तुएं सभी रंगों को परिवर्तित करती हैं वे सफ़ेद दिखाई देती हैं|  क्योंकि प्रकाश के श्वेत रंग में सभी सात रंग विद्यमान होते हैं|


18. पास की ट्रेन चलने पर अपनी ट्रेन चलती हुई क्यों लगती है?


Ans: गति प्रेरण के कारण ऐसा प्रतीत होता है। गति प्रेरण के अनुसार खड़ी हुई बस या ट्रेन में बैठे यात्री पास खड़ी दूसरी ट्रेन या बस के चलते हुये देखते है तो उन्हें अपनी ट्रेन या बस विपरीत दिशा में चलती हुई लगती है।


19. लोहे के पुल का एक सिरा स्थिरता से कसा हुआ होता है जबकि दूसरा सिरा रोलर पर ठहरा हुआ क्यों रखते है?


Ans: लोहे के पुल में एक सिरा स्थिरता से कसा होता है जबकि दूसरा सिरा रोलर पर ठहरा हुआ रखते हैं क्योंकि गर्मी के दिनों में ताप की अधिकता से लोहा गर्म होकर फैलता है| रोलर के कारण इसे फैलने की जगह मिल जाती है और पुल क्षतिग्रस्त होने से बच जाता है। यदि लोहे केे दोनों सिरों को स्थिर कर लिया जाये तो पुल को क्षतिग्रस्त होने का खतरा बना रहता है।


20. जब कोई व्यक्ति किसी चलती हुई गाड़ी से कूदता है तो वह मुँह के बल आगे की ओर क्यों गिरता है?


Ans: जब कोई व्यक्ति किसी चलती गाड़ी से कूदता है तो वह मुँह के बल आगे की ओर गिर जाता है क्योंकि जब व्यक्ति गाड़ी में था तब उसका पूरा शरीर भी गाड़ी के वेग से गतिमान था। जब वह कूदता है तब उसके पांव जमीन के लगते ही स्थिर हो जाते है, परन्तु ऊपर का शरीर गाड़ी के वेग से गतिमान रहता है फलस्वरूप व्यक्ति मुँह के बल आगे की ओर गिर जाता है। गिरने से बचने के लिए व्यक्ति को उतारते समय आगे की तरफ हल्का सा दौड़ना/चलना चाहिए|


इसे भी पढ़ें -


0 Response to "Most important general science question answer in Hindi"

टिप्पणी पोस्ट करें

Iklan Atas Artikel

Iklan Tengah Artikel 1

Iklan Tengah Artikel 2

Iklan Bawah Artikel